Share This Article

मौजूदा समय में जॉब पोर्टल समेत विभिन्न प्लेटफॉर्म्स पर लोग नौकरियां तलाश रहे हैं। कई बार जल्दबाजी या नौकरी पाने की आपाधापी में हम कुछ मूलभूत गलतियां कर जाते हैं, जिनसे हमारा सीवी सेलेक्ट नहीं हो पाता है या फिर हम अपनी बात को प्रभावी तरीके से नहीं रख पाते है। इसका सीधा प्रभाव सीवी के चयन के साथ ही उसके बाद भी होता है। यही नहीं, कई बार हम नौकरी के सही विकल्प का चयन नहीं कर पाते हैं और अपनी स्किल से इतर नौकरी का आवेदन कर देते हैं। आइए जानते हैं कि इंटरव्यू के दौरान किस तरह की मूलभूत गलतियों से बचना चाहिए-

योग्यता के अनुरूप आवेदन करें

नौकरी तलाशने की छटपटाहट में ज्यादातर लोगों को अपनी योग्यता से मिलता-जुलता जो भी पहला विकल्प दिखता है, वे उसके लिए अप्लाई कर देते हैं। इससे उनके कंज्यूजन का पता लगता है, लिहाजा, नौकरी तलाशने से पहले अपनी प्राथमिकता को साफ रखना बेहद जरूरी है। यह जान लेना चाहिए कि आप किस तरह के संस्थान में नौकरी के लिए आवेदन कर रहे हैं। अपने प्रोफाइल और कंपनी में रोल के बारे में भी समझ लेने में भलाई है।

गलतियों से भरा सीवी

कई बार ऐसा देखने में आता है कि हम इंटरनेट से किसी का सीवी कॉपी कर लेते हैं। इन सीवी में एडिटिंग के दौरान कई गलतियां छूट जाती हैं। कभी ऐसा होता है कि सीवी बनाते समय ग्रामर और स्पेलिंग की गलतियां भी हमारे सीवी में रह जाती हैं। सीवी में स्पेलिंग और भाषा से जुड़ी गलतियों से बचना चाहिए। इस तरह की गलतियां आपके बारे में बुरा प्रभाव डालती हैं। सीवी में अपनी स्किल्स के बारे में बढ़ा-चढ़ाकर बताना भी एक बड़ी गलती साबित हो सकती है। इसमें उसी अनुभव का जिक्र होना चाहिए, जो असलियत में है। अगर शॉर्टलिस्ट हो गए तो वैसे भी कंपनियां वेरिफिकेशन चेक कराती है। उसमें आपके बारे में सब कुछ पता चल जाता है।

हर कंपनी को एक ही कवर लेटर

जल्दी से दोबारा नौकरी पा लेने की होड़ में ज्यादातर लोग एक बड़ी गलती करते हैं। वे कवर लेटर की एक ही कॉपी और सभी संभावित एम्प्लॉयर को वही सीवी भेज देते हैं। अगर आपका सीवी इंटरनेट से उठाए गए किसी फॉर्मेट सरीखा दिखता है तो कोई एम्प्लॉयर आपसे संपर्क नहीं करेगा।

ऑनलाइन पर ही न रहें निर्भर

जॉब सर्च करते हुए इंटरनेट का सहारा लें, लेकिन पूरी तरह से उस पर निर्भर ना रहें। अपने नेटवर्क को साउंड करें। फैमिली मेंबर्स, फ्रेंड्स और अपने नेटवर्क के दूसरे लोगों से भी जॉब सर्च करने में मदद लें।

टाइम मैनेजमेंट

आमतौर पर कॉलेज में यह नहीं सिखाया जाता है। ये हमें नौकरी में आने के बाद ही पता चलता है। लड़के ये गलती पहले करते हैं। किसी कंपनी में काम करना आपका ड्रीम जॉब हो सकता है और आप काम करने को लेकर काफी उत्साहित भी हो सकते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप लगातार मैनेजर को कॉल करें या एचआर में कॉन्टेक्ट करने की कोशिश करें। इससे आपका इंप्रेशन डाउन होता है और यदि आप सेलेक्ट भी होने जा रहे हैं तो बार-बार फॉलो करने से आपको नुकसान हो सकता है। इससे आप बचें। सही समय का इंतजार करें।

इंटरव्यू में ध्यान रखें ये बातें

इंटरव्यू में सबसे पहले जो जरूरी बात है, वो समय का ध्यान देना है। इंटरव्यू के लिए 15 मिनट पहले पहुंचें। समय पर पहुचने से पता चलता है कि आप अपने काम को लेकर कितने जागरूक हैं। इंटरव्यू के दौरान पूछे गये सवालों के जवाब कॉनफिडेंस के साथ दें, यदि जवाब नहीं आता है तो न कहना सीखें, गलत जवाब न दें। जिस कम्पनी में इंटरव्यू देने जा रहें है, उसकी पूरी जानकारी लेकर जाएं, कहीं ऐसा न हो कि आप सभी चीजों के बारे में तो पढ़ लें, लेकिन उस कम्पनी के बारे में कुछ न पता हो। कई जॉब सेलेक्शन प्रोसेस फोन कॉल पर शुरू होते हैं। अगर शेड्यूल्ड कॉल है तो पहले से तैयारी कर लें। अगर यह शेड्यूल्ड नहीं है तो जरूरी काम का हवाला देते हुए नई डेट के लिए कहने से नहीं हिचकिचाएं।

वर्चुअल इंटरव्यू में रखें ध्यान

आईआईटी पटना के प्रोफेसर कृपाशंकर कहते हैं कि सबसे पहले वर्चुअल इंटरव्यू की प्रैक्टिस करें, यह बेहद जरूरी होता है। वर्चुअल इंटरव्यू में आपके हाथ में नियंत्रण होता है कि इंटरव्यू लेने वाले क्या देख सकते हैं, इसलिए इस एडवांटेज का फायदा उठाएं। विशेषज्ञ कहते हैं कि आप यह ठीक से सोच लें कि इंटरव्यू लेने वाले क्या देखेंगे। एक फिजिकल इंटरव्यू में आपको सोचना होता है कि आपको क्या पहनना है और आपको किस तरह कुर्सी पर बैठना है, लेकिन वर्चुअल इंटरव्यू में सेटिंग के बारे में भी सोचना होता है। आपका बैकग्राउंड ऐसा हो, जो आपकी पर्सनैलिटी के बारे में कुछ कहता हो। इसलिए बैकग्राउंड में ऐसी कोई कलाकृति रखें जो आपको पसंद हो या ऐसी कोई किताब रखें, जो आपकी पर्सनैलिटी के बारे में कहती हो। साथ में यह भी ध्यान रखें कि बैकग्राउंड में कोई ऐसी चीज न हो, जो ध्यान बांट दे।

होमवर्क न भूलें

आज के अधिकांश कैंडिडेट्स के साथ यह मसला जुड़ा है। जॉब सर्च के दौरान उन्हें मालूम नहीं होता कि वे किस तरह की जॉब चाहते हैं। ध्यान रहे कि आप जिस भी जॉब के लिए अप्लाई करने जा रहे हैं, उसके बारे में पूरी जानकारी रखना बेहद जरूरी है। यह न भूलें कि यदि आप संबंधित जॉब के लिए चुन लिए जाते हैं, तो इंटरव्यू में आपकी आधी-अधूरी जानकारी आपके फाइनल सेलेक्शन पर रोक लगा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social profiles
Close